क्या NRI का वोटिंग में दबदबा है या नहीं? आख़िर वोटिंग के विकल्प क्या हैं? - सत्य न्यूज़ हिंदी

क्या NRI का वोटिंग में दबदबा है या नहीं? आख़िर वोटिंग के विकल्प क्या हैं?

NRI वोटिंग
 

NRI वोटिंग

NRI वोटिंग: वर्ड के और दूसरे देशों में रह रहे हिंदुस्तानी नागरिकों की मांग पर भारत सरकार ने वर्ष 2010 में उन्हें सशर्त वोटिंग का हक दिया था ।

इसी के लिए भारत सरकार ने रिप्रेजेंटेशन ऑफ़ पीपल्स एक्ट में बदलाव भी किया । मगर भारत सरकार ने इसमें एक अनुबंध ये लगा दी कि NRI को वोट देने के लिए पोलिंग स्टेशन पर रहना पड़ेगा ।

आज के समय में अब एनआरआई ये मांग कर रहे हैं कि वह जहां रहते हैं उन्हें उसी जगह से मतदान का हक दिया जाए । इस बात को लेकर सुप्रीम कोर्ट में कुछ याचिकाएं लटकता हुआ हैं ।

आप को बता दें की अप्रवासी हिंदुस्तानी के वोटिंग हक तथा उससे जुड़ी पद्धति के बारे में ।

क्या NRI को वोटिंग का हक है?

वर्ष 2010 में हिंदुस्तान के ऐसे जनता को मतदाता लिस्ट में खुद का नाम पंजीकृत कराने का हक मिला,जो की किसी और देश में पढ़ाई, रोज़गार या फिर कोई और कारण से रह रहे हैं तथा उन्होंने वहां पर नागरिकता नहीं प्राप्त की है ।



जनवरी माह को 18 वर्ष की उम्र के हो चुके ऐसे NRI अपने निर्वाचन एरिये से वोटरलिस्ट में अपना नाम अंकित करा सकते हैं मगर इस चीज़ के लिए उनके पासपोर्ट में हिंदुस्तान में उनका रहने की जगह का जिक्र होना चाहिए ।

इस तरह के एनआरआई को वोटर लिस्ट में अपना नाम अंकित करवाने के लिए फार्म 6 ए फिल करना अनिवार्य है । इस को आप ऑनलाइन भी भर सकते है । ये फार्म भारतीय दूतावासों से फ्री में प्राप्त किया जा सकता है ।

अप्रवासी हिन्दुस्तानियों की तादाद कितनी है?

हिंदुस्तान के बाहर रहने वाले हिंदुस्तानी पब्लिक को अप्रवासी हिंदुस्तानी या NRI कहा जाता है । परराष्ट्र मंत्रालय की वेबसाइट केअनुसार वर्ड के 210 देशों में करीब 1,36,01,780 अप्रवासी हिंदुस्तानी रहते हैं ।

ये भी पढ़ें : अन्नदाता आंदोलनकारियों पर ड्रोन का प्रयोग कितना सही ?

मंत्रालय के हिसाब से सबसे ज़ादा एनआरआई UAE में रहते हैं । वहां पर लगभग 34,19,875 अप्रवासी हिंदुस्तानी रहते हैं । अगर बात करें अमेरिका की तो ये तादाद करीब 12,80,000 है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2021, Satya News All Rights Reserved |