2024 सरकार का यह आखिरी बजट, पिक्चर तो अभी बाकी है: शशि थरूर - सत्य न्यूज़ हिंदी

2024 सरकार का यह आखिरी बजट, पिक्चर तो अभी बाकी है: शशि थरूर

Shashi Tharoor
 

Shashi Tharoor

शशि थरूर Shashi Tharoor ने कहा कि बेरोजगारी की कोई भी बात वित्त मंत्री के भाषण से पूरी तरह गायब थी। बजट के बाद शशि थरूर ने वर्ष 2024 के लोकसभा इलेक्शन के नतीजे पहले से तय होने के भाजपा पार्टी के उस दावे को नकारते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि पिक्चर तो अभी बाकी है ।

शशि थरूर Shashi Tharoor ने बताया जीडीपी का अर्थ ।

तथा कहा ये अंतरिम बजट सरकार का आखरी बजट लगता है। शशि थरूर Shashi Tharoor ने जीडीपी को ‘गवर्नेंस, डेवलपमेंट तथा परफॉर्मेंस’ बताने के लिए वित्त मंत्री सीतारमण की आलोचना की ।



तथा कहा कि इस इंतिज़ाम के तहत ‘जी’ का अर्थ ‘गवर्नमेंटल इंट्रूजन और टैक्स टेररिज्म’ (सरकारी घुसपैठ तथा कर आतंकवाद), ‘डी’ का अर्थ ‘डेमोग्रेफिक बिट्रेयल’ (जनसांख्यिकीय विश्वासघात) और ‘पी’ का अर्थ ‘पावर्टी एंड राइजिंग इनिक्वालिटी’ (गरीबी तथा बढ़ती असमानता) है।

बेरोजगारी और आम इंसान के ज़िन्दगी में सुधार के मामले में मोदी सरकार को ‘एफ ग्रेड’

थरूर ने 2024 के अंतरिम केंद्रीय बजट को ”निराशाजनक” कहते हुए कहा कि बेरोजगारी की तो बात वित्त मंत्री सीता रमन के भाषण था ही नहीं ।

उनका दावा है कि आम इंसान के ज़िन्दगी में सुधार के मामले में मोदी सरकार को ‘एफ ग्रेड’ (अनुत्तीर्ण) मिलता है।

ये भी पढ़ें : विश्व हिन्दू परिषद् ने रखी अपनी डिमांड कहा ज्ञानवापी को हिन्दू को सौंप दो…

शशि थरूर Shashi Tharoor ने ये भी कहा,की ”मुद्रास्फीति, ख़ास तौर से खाद्य पदार्थों की मूल्यों में वृद्धि इतनी भयानक है कि नीचे की करीब 20 प्रतिशत आबादी मार्किट में उन्हें खरीदने के लायक नहीं है ।

जो की वे एक या दो वर्ष पहले खरीद सकते थे। यह आम हिंदुस्तानी के ज़िन्दगी की सच्चाई है, यही वजह है कि मोदी सरकार चाहती है कि भारत की जनता राम मंदिर के लिए गर्व करते हुए वोट करें

या तो बालाकोट, पुलवामा की घटना की बात को लेकर पाकिस्तान पर कथित हमला के लिए गर्व के आधार पर वोट दें।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2021, Satya News All Rights Reserved |