नीतीश कुमार आखिर लालू यादव से एक बार फिर क्यों अलग हुए ? - सत्य न्यूज़ हिंदी

नीतीश कुमार आखिर लालू यादव से एक बार फिर क्यों अलग हुए ?

लालू यादव
 

लालू यादव

सीएम नीतीश कुमार CM Nitish Kumar तथा पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव Lalu Prasad Yadav का रिश्ता काफी पुराना है । दोनों ने सियासत में पहला कदम स्टूडेंट जीवन में ही रखा । बिहार के लालू प्रसाद यादव Lalu Prasad Yadav इस समय सीएम नीतीश कुमार CM Nitish Kumar के लिए उनके ‘बड़े भाई’ हो गए ।

हिंदुस्तान की सियासत में साथ साथ शुरुआत करने तथा राष्ट्रीय फलक पर अपना नाम बनाने तक दोनों एक साथ रहे मगर वर्ष 1970 के दशक से शुरू हुई इस कहानी में वर्ष 1990 के बाद से ही कुछ अनदेखे मोड़ आने लगे ।

शुरुवात में हाथ तथा फिर साथ छूटा । नीतीश कुमार ने अपनी अलग पार्टी बनाई । उसके बाद लालू यादव ने भी अपनी अलग पार्टी बनाई । लगभग तीन दशक से बिहार की सियासत के सबसे ख़ास किरदार ये दोनों ही हैं ।



वर्षों की दूरियों के बाद दोनों वर्ष 2015 में फिर साथ आए । उस समय लालू यादव ने बिहार में राष्ट्रीय जनता दल तथा नीतीश कुमार के जनता दल यूनाइडेट के साथ बिहार विधानसभा का इलेक्शन लड़ा ।

तेजस्वी यादव का कद तथा लालू यादव का ख़्वाब

सियासत घटनाक्रम का इस वर्ष होने वाले लोकसभा इलेक्शन पर क्या असर होगा, इस सवाल पर ठाकुर ने बताया कि असर ‘ऐसा होगा जिसकी खयाल जनता ने आज से पहले कभी नहीं की होगी ।

नीतीश के बार बार पार्टी बदलने का क्या असर होगा ?

बिहार के नीतीश कुमार के बार-बार पार्टी बदलने से जुड़े सवाल पर ठाकुर ने कहा कि अब सियासत में छवि की फिक्र कोई नहीं कर रहा है । कुर्सी की लालच आज सबसे ऊपर है वही सबकुछ है ।

ये भी पढ़ें – बिहार की सियासत आखिर दिल्ली में क्यों हैं?

बिहार के नीतीश कुमार के पाला बदल के एनडीए में वापस आने से उसमें शामिल छोटे छोटे पार्टी पर क्या असर पड़ेगा तथा लोकसभा इलेक्शन में सीटों का बंटवारा कितना कठिन या सरल होगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2021, Satya News All Rights Reserved |