बोर्ड इम्तिहान की तैयारी में बच्चे को माता पिता इस तरह से रखें स्ट्रेस से दूर

Stress Management

बोर्ड परीक्षा स्टार्ट हो रहे हैं। ऐसे में स्टूडेंट के अंदर खासतौर टेंथ क्लास के स्टूडेंट यानि जो पहली बार बोर्ड की इम्तिहान देने वाले हैं उनमे परीक्षा को लेकर डर ज्यादा होता है। इस वजह से बच्चे को स्ट्रेस मैनेजमेंट अवशय सिखाएं।

बोर्ड इम्तिहान शुरू हो रहे हैं। ऐसे समय में स्टूडेंट खासतौर पर जो फस्ट टाइम बोर्ड की परीक्षाएं देने जा रहे हैं। वो ही अधिक स्ट्रेस में आ जाते हैं

ऐसे वख्त में ज़रूरी ये है कि माता पिता उनके खाने पीने तथा रूटीन का पूरा पूरा ख्याल रखें।

इससे उनको ना सिर्फ पढ़ने का पूरा पूरा वख्त मिल सकेगा बल्कि ठीक तरह से रेस्ट करें तथा ज्यादा स्ट्रेस ना लें।

माता पिता के हेल्प से उन्हें पढ़ा हुआ याद रहेगा तथा इम्तिहान में लिख सकेंगे। यदि आपका बच्चा  इम्तिहान के कारण से टेंशन में दिन-रात पढ़ाई कर रहा है तो उसको स्ट्रेस से इस तरह से दूर रखें।

जादातर तो बच्चे माता पिता के बजाय खुद से शेड्यूल बनाते हैं मगर बच्चों के पढ़ाई शेड्यूल को चेक करें। 

इम्तिहान के ऐसा टाइम टेबल हो सही हो तथा फॉलो करने में आसान। जिसमे पढ़ने करने के साथ ही खाने, सोने तथा आराम करने का टाइम फिक्स हो। 

ऐसा करने से बच्चे के ऊपर बोझ ना बढ़े तथा जरूरी ब्रेक मिलता रहे।स्टूडेंट को कुछ ब्रीदिंग एक्सरसाइज भी सिखाएं

ऐसा करने से वो अपने आप को रिलैक्स कर सके। मेडिटेशन, ब्रीदिंग तथा एक्सरसाइज, स्ट्रेचिंग को करने से स्ट्रेस दूर होगा।